Nov 8, 2016

५०० रुपए और १००० रुपये के आज रात १२ बजे से नोट बंद

Posted at  7:00 AM - by Mayank Pratap Singh Rajawat 0


काले धन पर रोक लगाने के लिए प्रधानमंत्री जी श्री नरेंद्र मोदी जी ने एक बहुत ही सराहनीय व कठोर कदम उठाते  हुए आज रात १२ बजे से  ५०० रुपए और १००० रुपये के नोट पर रोक लगा दी है अब ये एक कागज के टुकड़े के बराबर हो जायगे।

९ व १० नवम्बर को सारे बैंक बंद रहेगे।


जिनके पास भी ये नोट है वे इन्हें १०-नवम्बर से ३० दिसंबर तक बैंको व डाक घर में जमा करा सकते है।
PM मोदी का हिंदुस्तान की जनता को 'सरप्राईज़ झटका', 500-1000 रूपए के नोट होंगे बंद, नहीं कर सकेंगे इनसे लेन-देन

नई दिल्ली। ।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अचानक से देश की जनता से रु-ब-रु हुए। शाम 8 बजे प्रधानमंत्री ने दूरदर्शन के माध्यम से देश की जनता को संबोधित किया।

पीएम मोदी के संदेश की ये रहीं प्रमुख बातें

- सीमा पार के हमारे शत्रु जाली नोटों के जरिये अपना धंधा भारत में चलाते हैं और यह सालों से चल रहा है।

- आज मध्य रात्रि से वर्तमान में जारी 500 रुपये और 1,000 रुपये के करेंसी नोट लीगल टेंडर नहीं रहेंगे यानि ये मुद्राएँ कानूनन अमान्य होंगी ।

500 और 1,000 रुपये के पुराने नोटों के जरिये लेन देन की व्यवस्था आज मध्य रात्रि से उपलब्ध नहीं होगी।

- 100 रुपये, 50 रुपये, 20 रुपये, 10 रुपये, 5 रुपये, 2 रुपये और 1 रूपया का नोट और सभी सिक्के नियमित हैं और लेन देन के लिए उपयोग हो सकते हैं।

- 9 नवम्बर और कुछ स्थानों में 10 नवम्बर को भी ATM काम नहीं करेंगे।

- देशवाशियों को कम से कम तकलीफ का सामना करना पड़े, इसके लिए हमने कुछ इंतज़ाम किये हैं।

- 500 और 1,000 रुपये के पुराने नोट, 10 नवम्बर से लेकर 30 दिसम्बर तक अपने बैंक या डाक घर के खाते में बिना किसी सीमा के जमा करवा सकते हैं।

- आपकी धनराशि आपकी ही रहेगी, आपको कोई चिंता करने की जरूरत नहीं है।

- पिछले ढाई वर्षों में सवा सौ करोड़ देशवासियों के सहयोग से आज भारत ने ग्लोबल इकॉनमी में एक ब्राइट स्पॉट के रूप में उपस्तिथि दर्ज कराई है।

- यह सरकार गरीबों को समर्पित है और समर्पित रहेगी।

- देश में भ्रष्टाचार और कला धन जैसी बीमारियों ने अपना जड़ जमा लिया है और देश से गरीबी हटाने में ये सबसे बड़ी बाधा है।

- हर देश के विकास के इतिहास में ऐसे क्षण आये हैं जब एक शक्तिशाली और निर्णायक कदम की आवश्यकता महसूस की गई।

- सीमा पार के हमारे शत्रु जाली नोटों के जरिये अपना धंधा भारत में चलाते हैं और यह सालों से चल रहा है।

Tags:
About the Author

Write admin description here..

0 comments:

Contact Us

Name

Email *

Message *

Google+ Followers

Followers

WP Theme-junkie converted by Blogger template