Jan 27, 2017

अगर हमारी भारतीय संस्कृति पर हमला होगा तो *भंसाली* जैसे लोगो पर भी हमला होगा।

Posted at  10:46 PM - by Admin 0

राजपूतों में आक्रोश - पद्मावती के सम्मान में करणी सैनिक मैदान में

'Padmavati' shoot stalled in Jaipur; activists protest over distorting historical facts

चितौड़गढ की रानी पद्मिनी पर संजय लीला भंसाली द्वारा बनाई जा रही फिल्म "पद्मावती" की जयगढ में चल रही शूटिंग को लेकर समाज में आक्रोश..... 

करणी सेना के कार्यकर्ताओं ने फिल्म के खिलाफ नाराजगी जताते हुए शूटिंग रुकवाई...... 

हम सभी इस प्रकार की हर एक फिल्म का पुरजोर विरोध करते है जिसमें हमारे इतिहास को तोड़ मरोड़कर पेश किया जाता है..... 

संजय लीला भंसाली की फिल्म 'पद्मावती' की शूटिंग शुरू भी नहीं हुई है कि इसका विरोध शुरू हो गया है. फिल्म में दीपिका पादुकोण चित्तौड़ के राजा रतनसेन की पत्नी रानी पद्मिनी (पद्मावती) का किरदार निभा रही हैं.

फिल्म में दीपिका के पति की भूमिका में शाहिद कपूर नजर आएंगे. वहीं रणवीर सिंह को अलाऊद्दीन खिलजी के रोल के लिए साइन किया गया है. इस फिल्म का विरोध गुजरात में भी हो रहा है. वहीं, राजस्थान में राजपूत करणी सेना इस फिल्म के सख्त खिलाफ है.


फिल्म को ऐतिहासिक तथ्यों से तोड़मरोड़ कर रिलीज किया गया तो करोड़ों लोगों की भावनाओं को ठेस पहुंचेगी, ऐसे में कानून और व्यवस्था की समस्या सामने आ सकती है. गलत तथ्यों के साथ अगर ये फिल्म बनती है तो इसे देश के सिनेमाहॉल में चलने नहीं दिया जाएगा. रानी पद्मिनी का नाम राजस्थान के इतिहास में बहुत आदर के साथ लिया जाता है. उन्होंने चित्तौड़ के आत्मसम्मान के लिए 1600 और रानियों के साथ जलते कुंड में कूद कर जान दे दी थी. ऐसा उन्होंने अलाउद्दीन खिलजी के चित्तौड़गढ़ पर हमले के दौरान किया था.

राजपूत करणी सेना के सदस्यों ने बताया कि भंसाली ने फिल्म के इतिहास को ठीक तरह से नहीं पढ़ा, ऐसे में रानी पद्मिनी की छवि को नुकसान पहुंचने की आशंका है.

किसी भी फिल्मकार को मनोरंजन के नाम पर इतिहास को नुकसान पहुंचाने का अधिकार नहीं है. 

इस फिल्म की शूटिंग पहले चित्तौड़गढ़ के ऐतिहासिक किले में होनी थी, लेकिन करनी सेना के विरोध को देखते हुए फिल्म के लिए किले का पूरा सेटअप मुंबई में ही लगाया गया. राजपूत करणी सेना के संभाग प्रभारी भूपेंद्र सिंह राठौड़ का कहना है कि भंसाली की इस फिल्म में रानी पद्मिनी को अलाउदीन खिलजी की प्रेमिका के रूप में बताया जा रहा है जो मेवाड़ के इतिहास को खंडित करने जैसा है.

इससे पहले संजय लीला भंसाली की फिल्म बाजीराव मस्तानी को भी ऐतिहासिक तथ्यों से तोड़मरोड़ के आरोपों की वजह से ही विरोध का सामना करना पड़ा था.


इसी समूह ने किया था जोधा-अकबर का विरोध

- इसी करणी सेना के कार्यकर्ताओं ने एकता कपूर के सीरियल जोधा-अकबर का भी भारी विरोध किया था।

- करणी सेना का आरोप था कि सीरियल में भी इतिहास को तोड़-मरोड़ कर जोधा को गलत तरीके से पेश किया गया था।



अगर हमारी भारतीय संस्कृति पर हमला होगा तो भंसाली जैसे लोगो पर भी हमला होगा।

हम राजपूत है गुंडे नहीं धर्म और संस्कृति की रक्षा करना ही राजपूतो का कर्त्तव्य है। हम वाही कर रहे है जो हम वर्षो से करते आ रहे है 

http://www.timesofhindi.com/2017/01/blog-post_27.html?m=1

श्री *राजपूत करणी सेना* के 

     *जय राजपुताना*

अगर हमारी भारतीय संस्कृति पर हमला होगा तो *भंसाली* जैसे लोगो पर भी हमला होगा।
हम राजपूत है गुंडे नहीं धर्म और संस्कृति की रक्षा करना ही राजपूतो का कर्त्तव्य है। हम वाही कर रहे है जो हम वर्षो से करते आ रहे है ।

में श्री *राजपूत करणी सेना* के साथ हु।
मयंक प्रताप सिंह राजावत
जय राजपुताना

Tags:
About the Author

Write admin description here..

0 comments:

Contact Us

Name

Email *

Message *

Google+ Followers

Followers

WP Theme-junkie converted by Blogger template